Low इंटरेस्ट रेट पर पर्सनल लोन! | Personal Loans ऑफर

Lowest interest rates on personal loan: कई बार घर के खर्च इतने बढ़ जाते हैं कि आप थोड़ी सी बचत भी नहीं कर पाते हैं, जिससे परेशानियां आपको घेर लेती हैं और आप इधर-उधर पैसे का प्रबंध करने के लिए दौड़ते फिरते हैं लेकिन कहीं से कोई इंतजाम नहीं हो पाता है। ऐसे में आप सोचते हैं कि कहीं से पैसे का कोई जुगाड़ हो जाए। गर आपको पैसे उधार लेने की जरूरत है और आपने ऐसा करने का फैसला किया है, Personal Loans Offering

ऐसे समय में पर्सनल लोन लेना ही आपके लिए हितकारी हो सकता है और उसके लिए आपको बैंकों के चक्कर लगाने पड़ सकते हैं तथा आपको ये भी नहीं पता होगा कि वो आपके द्वारा लिए गए लोन पर कितना ब्याज लगाएंगे। इसलिए, इस लेख के माध्यम से आपको उच्च-ब्याज दरों से बचने के लिए सही ऋणदाता का चयन करना महत्वपूर्ण होगा, जिससे आप पर लोन का अत्याधिक भार भी न पड़े और आप उस लोन को आसानी से चुका सकें।

Personal Loan ले रहे हैं तो ध्यान दें! बैंक आपसे इन चार्ज के नाम पर वसूलेगा मोटी रकम

क्या आप जानते हैं पर्सनल लोन लेने के साथ बैंक अपने ग्राहक से हर स्टेज पर अलग-अलग तरह के चार्ज लेना शुरू कर देते हैं। लोन लेने के साथ प्रोसेसिंग चार्ज से लेकर EMI भूलने पर तक पैसा देना पड़ता है। पैसों की जरूरत को लेकर पर्सनल लोन लेने का विचार बना रहे हैं तो ये जानकारी आपके काम की होने वाली है।

  • जिनका क्रेडिट स्कोर उच्च होगा वो ही कम ब्याज दरों का आनंद ले पाते हैं।
  • ऐसे समय में आपके लिए अच्छी खबर ये है कि काफी घूमने फिरने के बाद आप अपने लोन पर ब्याज की दर बचा सकते हैं। खासकर तब, जब आपका क्रेडिट स्कोर अच्छा हो। जिनका क्रेडिट स्कोर उच्च होगा वो ही व्यक्ति अक्सर कम ब्याज दरों का आनंद ले पाते हैं, जिससे विभिन्न बैंकों के प्रस्तावों की तुलना करना अनिवार्य हो जाता है।

इसी संबंध में आज हम आपको व्यक्तिगत ऋण पर सबसे कम ब्याज दर लेने वाले शीर्ष बैंकों की जानकारी प्रदान करेंगे, जो आपको एक महत्वपूर्ण निर्णय लेने और सर्वोत्तम लोन लेने में मदद करेंगे। इसके लिए चाहे आप एक बड़ी खरीदारी करना चाह रहे हों, कर्ज को संगठित कर रहे हों, या किसी परेशानी का सामना कर रहे हों, आपके लिए यह जानना जरूरी हो जाता है कि सबसे कम ब्याज दरें कौन सा बैंक दे रहा है या किस बैंक से लोन सबसे कम ब्याज दरों में मिल सकता है, जिससे आपकी समस्या भी हल हो जाए और आपकी चिंताएं भी ज्यादा न बढ़ें।

  • देखें, वो बैंक जो कम ब्याज दरों पर पर्सनल लोन देते हैं
  • आप खराब क्रेडिट स्कोर के साथ पर्सनल लोन कैसे सुरक्षित कर सकते हैं?
  • यहां आपको बता दें कि यदि आपका क्रेडिट स्कोर खराब भी है और आप पर्सनल लोन लेना चाह रहे हैं तो वो है तो चुनौतीपूर्ण लेकिन जानें कि कैसे वो लोन लेना सुरक्षित हो सकता है? ऐसे में क्या रणनीति हैं जिनसे ये सब संभव हो सकता है।

अपनी लोन लेने की पात्रता एवं आपके क्रेडिट स्कोर के हिसाब से कितनी ब्याज दरों पर आपको लोन मिल सकता है, इसके बारे में आपको समझना होगा। अपने लोन से अपनी आय के अनुपात पर विचार करें और छोटे-छोटे लोन लेकर उनका भुगतान करके इसे कम करने का प्रयास करें। अपनी आय और व्यय का एक चार्ट बनाकर यह सुनिश्चित करें कि आप एक माह में अपने लोन का कितना भुगतान कर सकते हैं।

उन बैंकों से दूसरे बैंकों की तुलना करें, जो खराब क्रेडिट में विशेषज्ञ हैं
शुरूआत में लोन लेते समय, उन बैंकों से दूसरे बैंकों की तुलना करें, जो खराब क्रेडिट में विशेषज्ञ हैं और शिकारी प्रथाओं से सावधान रहें। अपने क्रेडिट स्कोर को प्रभावित किए बिना संभावित ऋण शर्तों को समझने के लिए पहले उस लोन को लेने के लिए अपनी योग्यता निर्धारित करें।

यदि आप अपने साथ अच्छे क्रेडिट वाले सह-हस्ताक्षरकर्ता को जोड़ लोगे तो आपके लोन लेने की संभावना में काफी सुधार हो सकता है और आपको कम से कम ब्याज दरों पर लोन मिल सकता है। इन चरणों का पालन करके और आप लोन लेकर, आप अपने क्रेडिट स्कोर खराब होने के बावजूद भी पर्सनल लोन लेने की अपनी संभावनाओं को बढ़ा सकते हैं।

भारत के कुछ टॉप बैंक/NBFCs की पर्सनल लोन ब्याज दरें 2024

  • बैंक/NBFC ब्याज दर (प्रति वर्ष) प्रोसेसिंग फीस (लोन राशि की %)
  • इंडसइंड बैंक 10.49% से शुरू 3% तक
  • यस बैंक 10.99% से शुरू 2% तक
  • IDBI बैंक 11.00%-15.50% 1% (न्यूनतम ₹2,500)
  • UCO बैंक 12.45%-12.85% 1% तक (न्यूनतम ₹750)

ऐसे मुख्य बिंदु जो पर्सनल लोन की रुचि को प्रभावित करते हैं :-

  • क्रेडिट स्कोर और क्रेडिट क्लोन
  • जोखिमकर्ता की आयु
  • आय और आय का साधन
  • स्थिर ऋण और उधारकर्ता की नई ऋण चुकाने की क्षमता

पर्सनल लोन पर लगने वाले चार्ज :-

प्रोसेसिंग चार्ज – पर्सनल लोन लेने के दौरान बैंक प्रोसेसिंग चार्ज के नाम पर एक मोटी रकम लेते हैं। हालांकि, हर बैंक अपने ग्राहक से अलग-अलग प्रोसेसिंग फी लेते हैं। अमूमन यह चार्ज लोन की रकम का 2.50% होता है।

डुप्लीकेट स्टेटमेंट चार्ज – लोन लेने के बाद लोन की भरपाई के लिए हर महीने एक स्टेटमेंट जनरेट होता है। इस स्टेटमेंट को खोने पर बैंक से दोबारा जाकर स्टेटमेंट निकलवाने की जरूरत होती है।

वेरिफिकेशन चार्ज – पर्सनल लोन लेने के दौरान बैंक आपसे वेरिफिकेशन चार्ज भी लेता है। दरअसल, लोन देने से पहले बैंक अपने ग्राहक की पूरी जांच करता है। इसके बाद ही लोन अप्रूवल मिलता है। इस वेरिफिकेशन प्रॉसेस के साथ ग्राहक की क्रेडिट हिस्ट्री खंगाली जाती है।

हालांकि, डुप्लीकेट स्टेटमेंट के लिए बैंक ग्राहक से डुप्लीकेट स्टेटमेंट चार्ज के तौर पर पैसा वसूलता है।

GST- वेरिफिकेशन पूरा होने के बाद जब लोन अप्रूवल मिल जाता है तो बैंक जीएसटी के रूप में भी पैसा लेते हैं।

EMI भूलने पर चार्ज- लोन लेने के बाद समय-समय पर ईएमआई भरनी पड़ती है। हालांकि, कई बार ग्राहक लोन तो ले लेते हैं, लेकिन ईएमआई देने की डेट याद नहीं रखते है।

ऐसे में ईएमआई मिस होने पर भी बैंक ग्राहक से लेट फी के तौर पर चार्ज वसूलता है।

नोट : इस लेख में दी गई जानकारी आपकी जानकारी के लिए प्रदान की गई है, मोहितलिरिक्स इसकी पुष्टि नहीं करता है, ज्यादा जानकारी के लिए अपने नजदीकी बैंक से जाकर जानकारी हासिल करें या सलाह लें।

Leave a Comment