प्रधानमंत्री मुद्रा लोन योजना महिला कारोबारियों के बारें में जानकारी

प्रधानमंत्री मुद्रा योजना (PMMY) का पूरा नाम माइक्रो यूनिट डेवलपमेंट रीफाइनेंस एजेंसी है। इस योजना की शुरुआत 2015 में की गई है। मुद्रा योजना एक ऐसी योजना है जिसमें पुराने बिजनेस का विस्तार करने के लिए बिजनेस लोन तो मिलता ही है इसके साथ ही एमएसएमई सेक्टर का नया बिजनेस शुरु करने के लिए भी बिजनेस लोन मिलता है। महिलाओं के लिए मुद्रा लोन – इस योजना के अंतर्गत महिलाओं को बैंक, NBFC एवं माइक्रो फाइनेंस के माध्यम से अधिकतम 10 लाख रूपये तक दिए जा सकते है। कोई भी महिला यदि अपना कोई निजी व्यवसाय करना चाहती है। तो वह मुद्रा ऋण लेने के लिए पात्र है, वह इस योजना में 10 लाख रूपये तक का बैंक Loan ले सकती है।

इसे पढ़ें :- Bajaj Finance Se Loan Kaise Le? | Bajaj Finserv App se loan kaise le?

महिला कारोबारियों पर लोन फोकस क्या है?

मुद्रा लोन जब से लांच हुई है तब से ही इस योजना में महिलाओं को बिज़नेस लोन देने पर जोर दिया जा रहा है। यही कारण है कि मुद्रा योजना (PMMY) के तहत लोन लेने वाले चार लोगों में से तीन शामिल महिलाएं हैं। प्रधानमंत्री मुद्रा लोन योजना 2023 के माध्यम से अब तक 5400000 नागरिकों को लोन दिया जा चुका है जो कि करीब 36578 करोड रुपए का कर्ज मंजूर किया गया जिसमें से 35598 करोड रुपए तीनों ऋण को दिया जाएगा और बैंक के द्वारा अब तक 44126 को रुपए का मंजूर किए गए थे। सबसे अच्छी बात महिला पर्सनल लोन लेने के बजाय अब महिलायों के लिए लोन का लाभ ले सकती है।

कोविड-19 के चलते हुए देश भर में लॉकडाउन से छोटे कारोबारियों को उबारने के लिए मुद्रा लोन के तहत दिये गये शिशु लोन की ब्याज दर में भी छूट दी जा रही है। शिशु लोन की ब्याज दर पर 2 प्रतिशत तक छूट दी जा रही है। सरकार का कहना है कि ब्याज पर छूट का लाभ 3 करोड़ लोगों को मिला है। महिला कर्ज योजना के तहत महिलायें बढ़-चढ़ के महिलाओं के लिए बिजनेस लोन का लाभ उठा रही है।

महिलाओं के लिए सबसे अच्छा लोन कौन सा है?

महिलाओ के लिए मुद्रा लोन स्कीम योजना (PMMY) खास है क्योंकि इस योजना में महिला आवेदकों को प्रमुखता के आधार पर मुद्रा लोन प्रदान किया जाता है। प्रधानमंत्री मुद्रा योजना एक बिजनेस लोन योजना है। इस सरकारी लोन योजना में एमएसएमएमई कारोबारियों को तीन कैटेगरी में 10 लाख रुपये तक का बिजनेस लोन, बिना कुछ गिरवी रखे मिलता है।

महिला कारोबारियों के लिए मुद्रा लोन योजना क्या है?

नरेंद्र मोदी सरकार द्वारा महिला सशक्तिकरण पर बहुत जोर दिया जा रहा है। महिला सशक्तिकरण तभी संभव है जब महिलाओं की भागीदारी रोजगार और स्वरोजगार में अधिक से अधिक होगी। महिलाओं को आर्थिक रुप से सक्षम बनाने के लिए केन्द्र सरकार द्वारा महिला रोजगार लोन योजना चलाई जा रही है। महिलाओं के लिए चलाई जा रही महिला लोन स्कीम 2020-21 में प्रधानमत्री मुद्रा ऋण योजना प्रमुख है। पीएम मुद्रा लोन योजना की ख़ासियत यह है कि इस योजना के तहत अगर 4 लोगों को बिजनेस लोन दिया गया तो उन 4 लोगों में से 3 महिलाएं शामिल हैं।

महिलाओं के लिए मुद्रा लोन स्कीम के तहत 10 लाख तक का मुद्रा लोन 27 सरकारी बैंक, 17 प्राइवेट बैंक, 31 क्षेत्रीय ग्रामीण बैंक, 4 सहकारी बैंक, 36 माइक्रो फाइनेंस संस्थान और 25 गैर बैंकिंग वित्तीय कंपनियों (NBFC) से मिलता है।

मुद्रा लोन कौन -कौन सी तीन कैटेगरी में मिलता है?

केंद्र सरकार के लघु, सूक्ष्म एवं मध्यम उद्यम (एमएसएमई) मंत्रालय द्वारा चलाई जा रही मुद्रा लोन योजना का लक्ष्य देश में अधिक से अधिक उद्योग शुरू करना और पुराने उद्योगों को बढ़ावा देना है। इसीलिए तीन कैटेगरी का वर्गीकरण किया गया है।

  1. शिशु लोन योजना - इस योजना में महिला लाभार्थी को 50 हजार तक का बिजनेस लोन प्रदान किया जाता है।
  2. किशोर लोन योजना – किशोर लोन योजना में महिला कारोबारियों को 50 हजार से 5 लाख तक बिजनेस लोन प्रदान किया जाता है।
  3. तरुण लोन योजना – तरुण लोन योजना में महिला कारोबारियों को 5 लाख से 10 लाख तक का बिजनेस लोन प्रदान किया जाता है।

इसे पढ़ें :- Kreditzy App Kya Hai In Hindi | क्रेडिटजी का यूज़ कैसे करें ? | Kreditzy App से लोन कैसे लें?

महिलाओं के लिए मुद्रा लोन लेने के लिए क्या पात्रता होनी चाहिए?

जिस भी महिला व्यवसायी को मुद्रा लोन चाहिए, उन्हें सबसे पहले मुद्रा लोन लेने की पात्रता जांचना चाहिए।

  • मुद्रा लोन के लिए अप्लाई करने वाला कारोबारी की नागरिकता भारतीय हो।
  • जिस भी कारोबार के लिए मुद्रा लोन लेना हो, वह कॉरपोरेट संस्था नहीं होनी चाहिए।
  • मुद्रा लोन का उपयोग गैर-कृषि कारोबार के लिए किया जाना हो।
  • बिजनेसमैन के पास मुद्रा लोन का उपयोग करने का प्रोजेक्ट तैयार होना चाहिए।

मुद्रा लोन लेने के लिए कागज़ात?

महिला कारोबारियों को प्रधान मंत्री महिला लोन योजना के तहत मुद्रा लोन लेने के लिए इन डाक्यूमेंट्स की जरूरत पड़ती है :-

  • 2 सेल्फी
  • पहचान पत्र के लिए आधार कार्ड, पैन कार्ड, वोटर कार्ड, पासपोर्ट, बैंक पासबुक, ड्राइविंग लाइसेंस इत्यादि में से किसी एक की फोटोकॉपी । यहां इस बात का ध्यान रखना होगा कि आप जो भी पहचान पत्र की फोटोकॉपी दे रहे हैं उसपर खुद का हस्ताक्षर करके ही देना होता है।
  • पता प्रमाण पत्र के लिए सरकार द्वारा जारी कोई भी प्रमाण पत्र जिससे यह साबित होता है कि आप उस पते पर रहते हैं, जैसे- आधार कार्ड, निवास प्रमाण पत्र, बिजली बिल, पानी की बिल इत्यादि। इस कॉपी पर भी खुद का हस्ताक्षर करना होगा।
  • बैंक स्टेटमेंट की कॉपी – यह कम से कम 3 महीने की होना चाहिए
  • जाति प्रमाण पत्र की कॉपी (अगर आप आरक्षित जाति से हैं और उसका लाभ उठाना चाहते हैं तब इसकी जरूरत पड़ेगी)
  • कारोबार के पता का प्रमाण पत्र – कारोबार का पहचान व पते का प्रमाण अपने कारोबार से संबंधित लाइसेंस, रजिस्ट्रेशन सर्टिफिकेट या अन्य कोई दस्तावेज जमा करना होगा। यह इस बात का प्रमाण है कि आप उस बिजनेस के मालिक हैं।
  • इन्वेंटरी खरीद करने का बिल की कॉपी (यह तब लागू होता है, कारोबार बढ़ाने के लिए मुद्रा लोन लिया जाता है)
  • महिलाओं में स्वरोजगार को बढ़ावा देने के लिए सरकार ऐसी ही बहुत सी और प्रधानमंत्री महिला स्वरोजगार योजना ला रही है जिससे काम ब्याज दर पर महिलाओं के लिए लोन उपलब्ध कराया जा सके।

इसे पढ़ें :- CreditMantri Se Personal Loan Le? | क्रेडिटमंत्री लोन ऐप से Home लोन कैसे लें?

मुद्रा लोन इस तरह के बिजनेस को मिल सकता है?

  • प्रोपराइटरशिप फर्म
  • पार्टनरशिप फर्म
  • छोटी मैन्युफैक्चरिंग यूनिट
  • सर्विस सेक्टर कंपनी
  • ट्रक/कार ड्राईवर
  • होटल मालिक
  • रिपेयर शॉप
  • दुकानदार
  • फल-सब्जी विक्रेता
  • मशीन ऑपरेटर
  • छोटे उद्योग
  • फ़ूड प्रोसेसिंग यूनिट
  • ग्रामीण एवं शहरी इलाके का कोई अन्य ग्रामोद्योग

Questions & Answers :-

क्या मुद्रा लोन महिलाओं को मिलता है?

हां मुद्रा लोन का लाभ महिला कारोबारियों को भरपुर मिलता है।

मुद्रा लोन कौन ले सकता है?

मुद्रा लोन का लाभ हर किसी को मिल सकता है। शर्त सिर्फ इतनी होती है कि मुद्रा लोन की रकम का उपयोग एमएसएमई बिजनेस के लिए करना होता है।

मुद्रा लोन कितने दिन में मिल जाता है?

मुद्रा लोन का प्रोसेस पूरा होने में दो सप्ताह का समय लगता है। हालांकि मुद्रा लोन मिलने में कितना समय लगेगा, यह सबंधित बैंक ही बता सकते हैं।

मुद्रा लोन कितने प्रकार के होते हैं?

मुद्रा लोन तीन प्रकार का होता है। – 1. शिशु लोन – 50 हजार रुपये तक का 2. किशोर लोन – 50 हजार से 5 लाख रुपये तक का 3. तरुण लोन – 5 लाख रुपये से 10 लाख रुपये तक का

बिना ब्याज का लोन कौन सा है?

स्वनिधि योजना के तहत बिना ब्याज का लोन, बेहद कम दस्तावेजों के साथ मिल जाता है। प्रधानमंत्री मोदी द्वारा यह स्कीम लॉकडाउन के दौरान लायी गयी थी।

महिलाओं के लिए पीएम मोदी लोन स्कीम क्या है?

पीएमएमवाई का लक्ष्य उन पात्र महिलाओं को वित्तीय सहायता प्रदान करना है जो अपना खुद का व्यवसाय शुरू करना चाहती हैं। यह योजना एक सफल व्यवसाय स्थापित करने के लिए आवश्यक कौशल हासिल करने की चाहत रखने वाली महिला उद्यमियों को ऋण प्रदान करती है।

महिलाओं के लिए यूनियन बैंक से कितना लोन मिल सकता है?

यूनियन बैंक ऑफ इंडिया 15 लाख रु. तक का पर्सनल लोन देता है, जिसकी ब्याज दरें 11.40% से शुरू होती हैं और इसका भुगतान 5 साल में किया जा सकता है। बैंक ने पेशेवर महिलाओं के लिए यूनियन महिला पेशेवर पर्सनल लोन योजना भी शुरू की है, जिसके तहत 50 लाख रु. तक का लोन ले सकते है।

महिलाओं को कौन सा बैंक लोन देता है?

महिला उद्यमियों के लिए कौन-कौन से बैंकों की लोन योजनाएं शुरू की गई हैं ? महिला उद्यमियों के लिए भारतीय महिला बैंक बिजनेस लोन, सेंट्रल बैंक ऑफ इंडिया से सेंट कल्याणी, एसबीआई स्त्री शक्ति पैकेज योजना, कैनरा बैंक से सिंड महिला शक्ति आदि की शुरुआत की गई है।

मुद्रा लोन नहीं चुकाया तो क्या होगा?

अगर कोई भी व्यक्ति प्रधानमंत्री मुद्रा लोन के तहत बिजनेस शुरू करने या उसके विस्तार के लिए लोन लेता है और फिर उसे वापस सही समय पर नहीं चुकाता है तो ऐसी स्थिति में उसकी संपत्ति को बैंक कानूनी तौर पर जब्त कर सकता है. जब्त की गई संपत्ति को नीलाम करके लोन की राशि वसूल की जा सकती है।

इसे पढ़ें :- Central Bank Of India Se Loan Kaise Le?

दोस्तों हमारी आज की ये पोस्ट कैसी लगी, अगर अच्छी लगी हो तो आप अपनी जान पहचान वालो को जरूर शेयर करें ताकि वो इस लोन स्किम का फायदा उठा सके। आज की पोस्ट में बस इतना ही।

धन्यवाद!

Leave a Comment